student play gamble in school and learn more then books, छत्तीसगढ़ में बच्चे पासे से कर रहे हैं पढ़ाई– Article

0
14


स्कूल में बच्चों की धमाचौकड़ी और क्लास में चौसर पर पासे फेंकते बच्चे. इस दृश्य को देखने के बाद कोई विश्वास नहीं करेगा कि इस स्कूल में पढ़ाई भी होती है, पर ऐसा नहीं है. पासों से सिर्फ जुआ नहीं खेला जाता, बल्कि इससे पढ़ाई भी होती है.

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर के एक सरकारी स्कूल में शिक्षकों ने बच्चों को पढ़ाने के लिए इन पासों से अनोखा प्रयोग किया है.

शिक्षकों का यह तरीका काफी कारगर साबित हो रहा है. इससे बच्चों को खेल-खेल में सीखने का नया मौका मिल रहा है.

पासों का जिक्र पौराणिक कथा महाभारत में मिलता है, जहां दुर्योधन के मामा शकुनी ने जुए में अपनी पासे की छल कला से पांडवों को हराया था.

शकुनी के पासे ने महाभारत का युद्ध करवा दिया था, लेकिन यहां ये पासे आज बदल रहे हैं मासूमों की जिंदगी. बलरामपुर में पासों के बल पर शिक्षक तैयार कर रहे हैं भारत का भविष्य.

Leave a Reply