गुजरात के इस विधानसभा क्षेत्र में धर्म पर भारी पड़ेगी जाति

0
8

Advance Call Recorder

सोमनाथ: सोमनाथ मंदिर में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का नाम गैर हिंदू वाले रिकॉर्ड में लिखे जाने का मामला चुनाव से ठीक पहले एक विवाद में तब्दील हो गया. लेकिन इस मंदिर वाले शहर के मतदाता धर्म के बजाय जाति के नाम पर वोट करते दिखाई देंगे.

सोमनाथ विधानसभा क्षेत्र में कोली और मुस्लिम बड़ी संख्या में हैं, जो किसी की भी संभावित जीत और हार में अपनी भागीदारी निभाते हैं. बीजेपी ने इस सीट पर अपने मौजूदा विधायक जशा भाई बराड को दोबारा टिकट दिया है. बराड राजपूत जाति से संबंध रखते हैं, तो वहीं कांग्रेस ने कोली समुदाय के 35 साल के नेता विमल भाई चूड़ासमा को मैदान में उतारा है.

बराड ने सोमनाथ विधानसभा चुनाव 2012 में कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ा था. लेकिन जीतने के बाद पार्टी से इस्तीफा देकर 2014 में बीजेपी में शामिल हो गए. उन्होंने दोबारा से सीट पर जीत हासिल की और विजय रूपाणी के मंत्रिमंडल में राज्य के पर्यटन मंत्री बने.

बीजेपी के समर्थक प्रदीप भाई आडवाणी जो वीरावल तालुका में पान की दुकान चलाते हैं, उन्हें यह कहने में कोई झिझक नहीं है कि कांग्रेस यह सीट जीतने जा रही है. उन्होंने कारण बताते हुए कहा, “कोली होने के कारण विमल भाई को अपने समुदाय से अधिक मत प्राप्त होंगे. मुस्लिम भी उन्हें वोट करेंगे. इसके अलावा उन्हें अहीर और दूसरी जातियों के भी वोट मिलेंगे.”

कांग्रेस उम्मीदवार विमल भाई चोरवाड़ गांव के रहने वाले हैं और वह नगरपालिका के प्रधान हैं. चोरवाड़ के पास जूनागढ़ जिले में व्यापार जगत के दिग्गज दिवगंत धीरूभाई अंबानी का जन्म हुआ था.

गुजरात औद्योगिक विकास निगम (जीआईडीसी) के एक कर्मचारी मनीष गोहिल ने कहा, “विमल भाई हमारे भाई हैं और हमारे बीच के हैं. जो लोग बीजेपी के करीबी हैं. वे निश्चित रूप से बराड के पक्ष में मतदान करेंगे, लेकिन अधिकांश कोली लोगों का समर्थन विमल भाई को मिलेगा.”

सोमनाथ में एक होटल चलाने वाले भगवान भाई जाला ने कहा कि उनके गांव भालपाड़ा में लगभग 12,000 मतदाता हैं. इनमें अहीर, दलित, भारवाड़ और प्रजापति शामिल हैं और उनमें से ज्यादातर वोट कांग्रेस को जाते हैं.

बीजेपी सरकार के प्रति अपना गुस्सा दिखाते हुए उन्होंने कहा, “बराड ने इलाके में विकास का नाम तक नहीं लिया. इलाके में पानी की कमी और बिजली की कटौती जैसी समस्याएं प्रमुख हैं. हमारा इलाका मूंगफली का उत्पादन करता है, लेकिन किसान फसल बिकने का इंतजार कर रहे हैं.”

गिर सोमनाथ जिले का सोमनाथ विधानसभा क्षेत्र भाजपा के लिए एक प्रतिष्ठित सीट है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां मंदिर का दौरा किया था और जिले में एक रैली को संबोधित किया था. चुनाव की घोषणा के बाद अमित शाह भी दो बार इस मंदिर के दर्शन करने आ चुके हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी मंदिर का दौरा किया था, लेकिन उनका नाम गैर हिदू आगंतुकों की पुस्तिका में दर्ज होने के बाद विवाद शुरू हो गया था. सोमनाथ के अलावा, कांग्रेस ने उना में कोली, तलाला में अहीर और कोदिनार में दलित को चुनाव मैदान में उतारा है. गुजरात में 182 सदस्यीय विधानसभा के लिए 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में मतदान होना है. वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी.

Leave a Reply