इस महिला से मिल चुके हैं यमराज, बोले-जा तू कुछ दिन और जी ले!– Article

0
40


एक महिला कैला देवी का दावा है कि वह यमलोक जा चुकी है, वहां जाने पर यमराज ने उससे कहा कि अभी तुम्‍हारी मौत का समय नहीं आया है, इसलिए जा तू कुछ दिन और जी ले.

ये बातें आपको झूठी लगी, लेकिन उत्‍तर प्रदेश के बुलंदशहर की इस महिला के परिवार वालों की बातें सुनेंगे तो आप सोचने पर विवश हो जाएंगे. घरवालों का कहना है कि 25 जुलाई को 90 साल की इस महिला की मौत हो गई थी. घर वाले उसके अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे, तभी करीब 10 घंटे बाद वह जिंदा हो गई. महिला का दावा है कि यमराज खुद उसे दोबारा पृथवी पर छोड़कर गए हैं.

यह महिला खुर्जा के बगराई गांव की रहने वाली है. लंबे समय से बुखार से पीड़ित कैला देवी ने 25 जुलाई की सुबह दम तोड़ दिया. घर में बुजुर्ग की मौत पर नाते-रिश्तेदार जुटे. गांव का हुजूम इकठ्ठा हो गया. अंतिम संस्कार की तैयारियां हो गयी, लेकिन अचानक कैला देवी की सांसें वापस आ गयी.

कैलादेवी के दावे को हम पुख्ता नहीं करते, लेकिन गांव के सैकड़ों लोगों ने कैला देवी को मरे हुए देखा और फिर जिंदा देखा. यकीन कीजिए या न कीजिए, लेकिन कैला देवी का दावा है कि वह मर चुकी थी. उनके पास चार लोग आये जिनमें से एक की दाड़ी थी. कागजों का लेखा-जोखा भी देखा गया. फिर बताया गया कि इसे जीने दो. इसका वक्त बाकी है.

कैलादेवी कहती है कि वह यमराज थे. यमराज यानी मौत के देवता. लोग इसे मजाक मानेगे, लेकिन गांव के लोग सच मान रहे हैं क्योंकि उन्होंने कैला देवी को शव-शैय्या पर पड़े देखा था और फिर उन्हें जिंदा भी देख रहे हैं.

गांव के डॉक्टर ने कैलादेवी को जिंदा रहते दवा दी थी और उनके मरने के बाद भी वह उन्हें चेक करने आये थे. लेकिन विज्ञान और प्रकृति के नियम कैला देवी के दावों के खिलाफ हैं. यह भी सत्य है कि मौत किसी को बख्शती नहीं, लेकिन जो मर कर भी जिंदा हो जाये वही तो सिकंदर होता है.



First published: July 27, 2016

<!–

–>

Leave a Reply